Home खेल रोहन बोपन्‍ना का दूसरा ग्रैंडस्‍लैम खिताब जीतने का सपना टूटा, मिक्‍स्‍ड डबल्‍स...

रोहन बोपन्‍ना का दूसरा ग्रैंडस्‍लैम खिताब जीतने का सपना टूटा, मिक्‍स्‍ड डबल्‍स वर्ग के फाइनल में हारे

51
0
SHARE
rohan-bopanna-timea-babos-go-down-in-australian-open-mixed-doubles-final

भारत के रोहन बोपन्‍ना का किसी ग्रैंडस्‍लैम टूर्नामेंट के मिक्स्‍ड डबल्‍स वर्ग में दूसरी बार चैंपियन चैंपियन बनने का सपना पूरा नहीं हो सका है.

मेलबर्न: भारत के रोहन बोपन्‍ना का किसी ग्रैंडस्‍लैम टूर्नामेंट के मिक्स्‍ड डबल्‍स वर्ग में दूसरी बार चैंपियन चैंपियन बनने का सपना पूरा नहीं हो सका है. रोहन बोपन्ना और हंगरी की उनकी जोड़ीदार टिमिया बाबोस को पहले सेट में जीत के बावजूद ऑस्ट्रेलियाई ओपन के फाइनल में आज यहां मैट पाविच और गैब्रियला डाब्रोवस्की के हाथों हार का सामना करना पड़ा. बोपन्ना और बाबोस की पांचवीं वरीयता प्राप्त जोड़ी को क्रोएिशया के पाविच और कनाडा की डाब्रोवस्की की आठवीं वरीयता प्राप्‍त जोड़ी के हाथों एक घंटे आठ मिनट तक चले मैच में 6-2, 4-6, 9-11 से हार का सामना करना पड़ा.

बोपन्ना ने मिक्स्‍ड डबल्‍स वर्ग में अपना पहला ग्रैंडस्लैम खिताब 2017 फ्रेंच ओपन के रूप में जीता था. मजे की बात यह है कि उन्होंने कनाडा की गैब्रिएला दाब्रोवस्की के साथ जोड़ी बनाकर ही यह खिताब जीता था. दाब्रोवस्की ऑस्‍ट्रेलियन ओपन के फाइनल में इस बार मैट पाविच के साथ जोड़ी बनाकर खेलीं और बोपन्ना और टिमिया बाबोस की जोड़ी को हराकर खिताब जीतीं.

बोपन्ना और बाबोस की जोड़ी ने पहले सेट में दबदबा बनाये रखा और अपनी प्रतिद्वंद्वी की गलतियों का पूरा फायदा उठाया. भारत और हंगरी की जोड़ी को ब्रेक प्वाइंट के सात मौके मिले जिनमें से दो में वे सफल रहे. पहला सेट गंवाने के बाद पाविच और डाब्रोवस्की ने शानदार वापसी की. उनकी सर्विस अच्छी थी और दूसरे सेट में उन्होंने ब्रेक प्वाइंट का एक भी अवसर नहीं दिया. दूसरी ओर, बोपन्ना और बाबोस ने इस दौरान गलतियां की और एक बार अपनी सर्विस गंवाई. इसके बाद दोनों टीमें टाईब्रेकर में खेलने के लिये उतरी तथा कड़े मुकाबले के बाद पाविच और डाब्रोवस्की खिताब जीतने में सफल रहे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here