Home राज्य अब गायों को खुला छोड़ा तो देना होगा अधिक जुर्माना,जानिए क्या करने...

अब गायों को खुला छोड़ा तो देना होगा अधिक जुर्माना,जानिए क्या करने जा रही है अलवर की सरकार

142
2
SHARE
now-if-the-cows-are-left-open-then-more-fines-will-be-given-know-what-is-going-to-be-the-government-of-alwar

अब आवारा पशुओं को छुडवाने की राशि दोगुनी कर दी गई है। साथ ही जो आवारा गौवंश पकड़ा जाएगा उसे छोडऩे की बजाय सीधे भेजा जाएगा गौशाला

नगर परिषद अब करेगा सख्त कार्रवाई

अलवर शहर में आवारा पशुओं की समस्या कम होने का नाम नहीं ले रही। इन पशुओं की वजह से आए शहर में हादसे तो होते ही है यातायात में भी बाधा बनते हैं। इसको देखते हुए नगर परिषद की ओर से अब आवारा पशुओं को पकडऩे के काम में सख्ती बरती जा रही है।

अब आवारा पशुओं को छुडवाने की राशि दोगुनी कर दी गई है। साथ ही जो आवार गौवंश आदि पकड़ा जाएगा उसे छोडऩे की बजाय सीधे गौशाला में भेजा जाएगा। इसके साथ ही कांजी हाउस की सुरक्षा भी बढ़ाई गई है। जिससे की लोग वहां से जबरन गायों को नहीं ले जा सकें। नगर परिषद कमिश्नर के निर्देश पर राजस्व अधिकारी ने जिला पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखकर आवारा पशु पकडऩे के लिए पुलिसकर्मियों की मांग की है। जिससे की लोग जबरन अपने पशु नहीं छुड़वा सकेंगे। गौरतलब है कि 15 नवंबर 2017 को काइन हाउस का ताला तोड़कर कुछ लोग रात में अपने पशु निकाल ले गए थे।

गवाह नहीं मिलने पर लगी एफआर

जब भी नगर परिषद पशु पकडऩे के लिए जाती है तो लोग उनका वीडियो बनाते हैं और आगे बढ़कर मदद करने की बात कहते हैं। इसको देखते हुए कोतवाली थाना क्षेत्र में तीन एफआईआर दर्ज भी गई। लेकिन बाद में गवाहों के बदलने की वजह से ममले में पुलिस को एफआर लगानी पड़ी। नगर परिषद में कांजी हाउस के इंचार्ज लक्ष्मण मीणा ने बताया कि पिछले महिने अलवर शहर में 138 पशु पकड़े गए। जिसमेंं से 80 को गौशाला में भेजा गया । इसमें से करीब 8100 रुपए के राजस्व की वसूली हुई। पिछले चार दिनों में करीब 95 गाय व आवारा सांड पकड़े गए ।

पालतू पशुओं को आवारा छोडऩे वालों के खिलाफ अब सख्त कार्रवाई की जाएगी। जुर्माना दोगुना कर दिया है। पकड़े गए पशुओं को सीधा शहर से बाहर गौशालाओं में भेजा जा रहा है। हमारे कर्मचारियों के साथ हादसा ना हो इसलिए पुलिसकर्मी की मांग की गई है।

दोगुना से अधिक हुई जुर्माना राशि

पूर्व में आवारा गाय आदि को छुड़वाने के लिए 850 रुपए की राशि निर्धारित थी। जिसे बढ़ाकर अधिकतम 2000 रुपए कर दिया है। इससे नगर परिषद का राजस्व भी बढ़ा है। राशि अधिक होने से लोग आवारा पशुओं को छोडऩे की बजाय घरों में बांधकर ही रखेंगे। उन्होंने बताया कि इस महिने में करीब 95 पशु पकड़े गए हैं। जिनको शहर के बाहर स्थित थानागाजी, तिजारा, बहरोड़ आदि गौशालाओं में भिजवाया गया है।

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here