Home दुनिया फिलीस्तीन के पक्ष में नीदरलैंड के इस कदम से इजराइल को लगी...

फिलीस्तीन के पक्ष में नीदरलैंड के इस कदम से इजराइल को लगी जबरदस्त मिर्ची

41
0
SHARE
netherland-changed-name-of-their-street-to-honour-ahed-tamimi
नीदरलैंड में डच कार्यकर्ताओं ने इजराइल को कड़ा जवाब देते हुए 13 सड़कों और बड़े रोडवेज का नाम बदल कर फिलिस्तीनी प्रतिरोध की अंतराष्ट्रीय चेहरा बनी अहद तामिमी के नाम पर रख दिए।


बता दें कि वेस्ट बैंक के अपने गांव में दो इजरायली सैनिकों को थप्पड़ मारने के लिए इजराइल की अदालत ने तामिमी को आठ महीने जेल में सजा सुनाई।
कार्यकर्ताओं ने द हेग, रॉटरडैम, ग्रोनिंगन, लीउवर्डेन, ग्रीज़ेकरक, एसेन, लीडेन, हेमेस्टेड, टिलबर्ग, वलैटेडेन, मैरसेन और निज्मेजेन, साथ ही एम्स्टर्डम में सड़कों के नाम बदल दिए हैं।


ख़ास बात ये है कि इन सड़कों में से एक सड़क एम्स्टर्डम में इजरायल दूतावास की ओर जाती है। तमीमी का थप्पड़ मारने का एक वीडियो स्पॉटलाइट शेयर किया था। जिसके बाद दुनिया तमीमी की हिम्मत से रूबरू हुई थी।
कई बार अपनी बात रखने के लिए हथियार उठाने से ज्यादा खतरनाक, विरोध में उठा एक छोटा कदम भी हो सकता है। विरोध के लिए उठ रही हजारों आवाजों के सामने जमीनी स्तर पर हुई एक छोटी सी घटना इतनी प्रभावशाली होती है कि सत्ता में बैठे लोगों के लिए मुसीबत बन जाती है। ऐसा ही कुछ तब भी हुआ, जब 16 साल की फिलिस्तीनी लड़की, अहद तमीमी ने एक इजराइली सिपाही को थप्पड़ जड़ दिया!


उस दिन के बाद से तो मानों अहद की जिंदगी ही बदल गई। उस एक घटना ने उसे दुनिया भर में प्रसिद्ध कर दिया। आखिर उसने ऐसा क्यों किया और क्या हुआ उस घटना के बाद आइए जानते हैं-

ज्यादतियों ने बनाया विरोधी!

इजराइल और फिलिस्तीन के बीच वेस्ट बैंक की सीमा को लेकर चल रहा विवाद कोई नया नहीं है। लगभग 50 साल से वेस्ट बैंक के इलाके को लेकर दोनों देशों के बीच तनाव जारी है, जिसमें इजराइल पर गैरकानूनी तरीके से वेस्ट बैंक पर कब्जा जमाने के आरोप लगते रहे हैं।


वहीं संयुक्त राष्ट्र संघ भी इस विवादित इलाके को इजराइल द्वारा अधिकृत क्षेत्र मानता है। यहां रहने वाले फिलिस्तीनी लोगों की आए दिन इजराइली सिपाहियों से तकरार होती रहती है। यही कारण रहा कि मात्र 16 साल की उम्र में अपने भाई के साथ हुई ज्यादती ने अहद तमीमी को फिलिस्तीनी एक्टिविस्ट बना दिया।

दरअसल इजराइली सेना के एक सिपाही ने रबड़ बुलेट का इस्तेमाल कर तमीमी के छोटे भाई मुहम्मद तमीमी पर गोली चला दी, जिससे वह कोमा में चला गया। न सिर्फ इतना, बल्कि उसके घर पर आंसू गैस से हमला भी किया गया।


हालांकि, वेस्ट बैंक के विवादित हिस्से में फिलिस्तीनी युवाओं और इजराइली सैनिकों के बीच झड़प आम बात है। किन्तु, अहद तमीमी का यह मामला इजराइल और फिलिस्तीन के बीच राष्ट्रीय मुद्दा तब बन गया, जब अपने भाई पर गोली चलाने का बदला लेने के लिए अहद तमीमी ने एक इजराइली सैनिक को थप्पड़ मार दिया।
किसी भी देश के सैनिक को उस देश का सम्मान समझा जाता है और ऐसा ही इजराइल में भी है, इसलिए जब थप्पड़ का विडियो सोशल मीडिया के जरिए लोगों तक पहुंचा, तो अहद तमीमी की इजराइल में न सिर्फ निंदा हुई, बल्कि उसे गिरफ्तार भी कर लिया गया है।


गौरतलब हो कि अहद तमीमी को अपने भाई, एक 14 साल के लड़के के लिए आवाज उठाने और अपने घर में जबरदस्ती घुसे हुए सैनिक के खिलाफ गुस्सा जाहिर करने के लिए 8 महीने की जेल की सजा सुनाई जा चुकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here