Home राज्य एक हवाई जहाज और 30 कारों का मालिक है ये महंत, अब...

एक हवाई जहाज और 30 कारों का मालिक है ये महंत, अब लगा रेप का आरोप

139
2
SHARE
mahant-live-royal-life-styal-now-face-charge

जोधपुर। रामचौकी आश्रम के महंत सुंदरदास पर उनकी एक शिष्या ने दुष्कर्म का आरोप लगाया है। जोधपुर से करीब पचास किलोमीटर दूर स्थित यह आश्रम आमजन के लिए हमेशा से रहस्य बना हुआ है। इस आश्रम में सिर्फ महंत के शिष्यों को ही प्रवेश मिलता है। इस आश्रम के गादीपति महंत सुंदरदास अपनी शाही लाइफस्टाइल के कारण हमेशा लोगों के बीच चर्चित रहा है। करोड़ों की सम्पति के मालिक ये महंत दो करोड़ रुपए के हीरों का हार पहनते है और करोड़ों रुपयों की30 कारों का मालिक है। महंत कही भी अपने निजी हवाई जहाज से आते-जाते हैं।

– महंत सुंदरदास महाराज का जोधपुर से पचास किलोमीटर दूर बिराई में रामधाम रामचौकी के नाम से विशाल आश्रम है। क्षेत्र में हजारों की संख्या में उनके समर्थक है। वहीं देश के विभिन्न हिस्सों में उनके आश्रम है। मूल रूप से बीकानेर निवासी कई बरस से इस आश्रम के गादीपति है और अपने समर्थकों में दाता के नाम से पहचाने जाते है। इस आश्रम के पास करोड़ों की अकूत सम्पदा है।

– इस आश्रम से जुड़े लोगों पर कई बार विभिन्न मामलों में पुलिस केस दर्ज हो रखे है। खासियत की बात यह है कि गांव का एक भी व्यक्ति इनके आश्रम का सदस्य नहीं है।

– उनके आश्रम के नियम बड़े सख्त है। समर्थकों के सिवाय किसी को आश्रम में जाने की अनुमति नहीं मिलती। पुरुष पैंट पहन कर आश्रम में प्रवेश नहीं कर सकते है। उनके लिए कुर्ता-पायजामा पहनना अनिवार्य है। वहीं, महिलाओं के लिए भी कई कई नियम हैं। मंदिर में महिलाओं का प्रवेश वर्जित है।

अलग तरह से होती है समर्थकों की शादी

– बिराई रमाचौकी से जुड़े किसी भी समर्थक की शादी भी अलग तरह से होती है। इसमें सामान्य शादी की तरह दूल्हा-दुल्हन अग्नि को साक्षी मानकर विवाह बंधन में नहीं बंधते है। इसके स्थान पर महाराज की वाणी यानी यहां के पवित्र माने जाने ग्रंथ को साक्षी मानकर फेरे लिए जाते हैं। साथ ही, दूल्हा-दुल्हन के गले में महंत सुंदरदास की तस्वीर लगी रहती है। इस शादी में में प्रमुख शर्त यह होती है कि दुल्हन मेहंदी नहीं लगा सकती है।

करोड़ों की सम्पति है आश्रम के पास

– बताया जाता है कि महंत सुन्दर हमेशा हीरों से जड़ा दो करोड़ रुपए का हार पहने रहते है। शाही जीवन शैली वाले ये महंत हमेशा खुद के हवाई जहाज से सफर करते है। साथ ही, इनके पास महंगी कारों का काफिला है।

बिराई में 300 बीघा में आश्रम, स्वयं के प्लेन से आना-जाना

– बिराई में महंत सुंदरदास का 300 बीघा में आलीशान आश्रम है। जहां पिछले 30 वर्षों से लगातार कर विभिन्न तरह के निर्माण चल रहे है। आश्रम में बिना अनुमति कोई प्रवेश नहीं कर सकता। आश्रम में 400 से ज्यादा फ्लैट बने है, जिन्हें सेवकों को ढाई-ढाई लाख रुपए में दिया जाता है। जो सेवकों के मरणोपरांत वापस आश्रम की संपत्ति हो जाएगी। आश्रम में मूर्ति पूजा वर्जित है। सेवक महंत को ही भगवान मान पूजन करते हैं। महंत के पास खुद का प्लेन भी है।

क्या है मामला

उत्तर दिल्ली के सब्जी मंडी थाने की पुलिस के मुताबिक, महंत सुंदरदास का इसी इलाके में एक आश्रम है। विक्टिम ने अपनी रिपोर्ट ने बताया कि उसका पूरा परिवार महंत का भक्त है और उनके आश्रम में आना-जाना है। 17 मई को वह आश्रम गई थी। जहां महंत ने उसके साथ रेप कर परिजनों को बताने पर जाने से मारने की धमकी दी। आश्रम से निकल वह घर पहुंची और पति को जानकारी दी। इस पर उसके पति ने पहले रूपनगर थाने में शिकायत दी, लेकिन घटनास्थल इस थाना क्षेत्र में नहीं होने के कारण मामला दर्ज नहीं हुआ। फिर उन्होंने सब्जी मंडी थाने में शिकायत दर्ज करवाई। पुलिस ने मजिस्ट्रेट के सामने महंत द्वारा रेप की बात कही। विक्टिम के बयान होने के बाद पुलिस ने केस दर्ज कर लिया।

इधर, पीड़िता की बेटियों ने मां-बाप पर लगाए गंभीर आरोप

महंत पर केस दर्ज होने के बाद विक्टिम की दो सौतेली नाबालिग बेटियों ने अपने ही पिता पर रेप का आरोप लगाया। जिसमें उनकी मां भी पिता का साथ देती थी। पुलिस ने दोनों के खिलाफ पॉक्सो में मामला दर्ज कर जांच शुरू की। फिर पिता को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। विक्टिम का आरोप है कि यह मुकदमा झूठा है, जिसे महंत के इशारे पर दर्ज किया गया।

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here