Home समाचार यूएई की 700 करोड़ की मदद को भारत ने ठुकराया!

यूएई की 700 करोड़ की मदद को भारत ने ठुकराया!

169
1
SHARE
India's 700 crore help turned down!
भारत ने संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए 700 करोड़ रुपए की मदद को ठुकरा दिया है. बुरी तरह बाढ़ से प्रभावित केरल की मदद के लिए यूएई ने मंगलवार को मदद की घोषणा की थी. कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में सरकारी सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि सरकार विदेशों से मिलने वाली किसी भी मदद को स्वीकार नहीं करेगी. ख़बरों के मुताबिक सरकार ने तय किया है कि वो इस आपदा से घरेलू स्तर पर निपट लेगी.


विदेशी मदद स्वीकार नहीं करने का ये फ़ैसला पहली बार नहीं हुआ है. 2013 की केदारनाथ आपदा के समय यूपीए की सरकार ने भी विदेशी मदद स्वीकार करने से इनकार कर दिया था. यूएई और बाक़ी के खाड़ी देशों में केरल के लोगों की अच्छी-ख़ासी आबादी रहती है. खाड़ी के देशों में भारतीय मज़दूरों की बड़ी तादाद है. एक अनुमान के अनुसार संयुक्त अरब अमीरात की कुल आबादी में भारतीय प्रवासी 27 फ़ीसदी हैं.
विदेश मंत्रालय ने कहा है कि अभी तक उसे ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं मिला है। विदेश मंत्रालय ने स्पष्ट किया है कि विदेशों में रहने वाले भारतीय नागरिक केरल के मुख्यमंत्री राहत कोष में अपना दान भेज सकते हैं जो कि टैक्स फ्री होगा।

सीनियर ऑफिसर ने एनडीटीवी से कहा कि अगर विदेशी सहायता गैर-लाभकारी संस्थाओं या गैर सरकारी संगठनों से आ रही है, जो विदेशी योगदान (विनियमन) अधिनियम (एफसीआरए) के तहत पंजीकृत हैं, तो उन पर टैक्स लागू नहीं होगा। मगर गैर सरकारी संगठनों से दान प्राप्त होता है, जो कि पंजीकृत नहीं है, तब इसे एनजीओ के के आय के रूप में गिना जाएगा, जिस पर टैक्स लगेगा।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here