Home राज्य हिमाचल में मानसून से मिले जख्म अभी तक नहीं भरे, 60 सड़कें...

हिमाचल में मानसून से मिले जख्म अभी तक नहीं भरे, 60 सड़कें अब भी बंद

52
2
SHARE
himachal-monsoon-wounds-not-yet-filled-60-roads-still-closed
हिमाचल में बारिश से राहत मिली, लेकिन प्रदेश में 60 सड़कें अब भी बंद हैं। बरसात से नकदी फसल मटर, टमाटर, शिमला मिर्च ही नहीं अन्य फसलें भी खराब हुई हैं। शिमला, जेएनएन। हिमाचल में मौसम की दुश्वारियां कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। बेशक रविवार को बारिश से राहत मिली, लेकिन पिछले दिनों मानसून से मिले जख्म अभी तक नहीं भरे हैं। प्रदेश में 60 सड़कें अब भी बंद हैं। उधर, मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश में मानसून की रफ्तार धीरे-धीरे सामान्य होती जा रही हैं। सितंबर के दूसरे सप्ताह तक मानसून के धीमे पड़ने की संभावना है।

प्रदेश में अब तक कुल 641 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड दर्ज की गई है जो कि सामान्य के आसपास है। कई जिलों में सामान्य से बहुत ज्यादा बारिश रिकॉर्ड की गई। जिला ऊना में इस साल अब तक 918.2 मिली मीटर बारिश रिकॉर्ड की गई है जो कि सामान्य से 35 प्रतिशत अधिक है। वहीं जिला कांगड़ा में सामान्य से 29 प्रतिशत अधिक बारिश रिकॉर्ड की गई। चंबा, लाहुल-स्पीति व सिरमौर को छोड़ प्रदेश के अन्य जिलों में सामान्य से अधिक बारिश रिकॉर्ड की गई है। लाहुल-स्पीति में सामान्य से 58 प्रतिशत कम बारिश रिकॉर्ड की गई।
himachal-monsoon-wounds-not-yet-filled-60-roads-still-closed-2
प्रदेश के अन्य जिलों में भी सामान्य से काफी अधिक बारिश होने से करोड़ों का नुकसान हुआ है। बरसात से नकदी फसल मटर, टमाटर, शिमला मिर्च ही नहीं अन्य फसलें भी खराब हुई हैं। सेब बाहुल क्षेत्रों में सेब की फसल भी भारी बारिश के कारण प्रभावित हुई है। मौसम की वजह से प्रदेश में दर्जनों गांव अंधेरे में डूबे हैं। कई गांव सड़कों से कटे हैं। बरसात से लोक निर्माण विभाग का नुकसान बढ़कर 668 करोड़ हो गया है। बाधित मार्गो को खोलने के लिए 252 मशीनरी लगाई गई है। इसमें जेसीबी, डोजर, टिप्पर शामिल हैं। मंडी और कांगड़ा जोन में सड़कों को ज्यादा नुकसान पहुंचा है। इससे पहले हुई भारी बारिश से शिमला जोन को अधिक नुकसान हुआ था।

31 तक कुछ जगह होगी बारिश मौसम विभाग की मानें तो राज्य में मानसून कुछ धीमा पड़ा है। जिसे सितंबर के पहले सप्ताह तक बारिश से लोगों को राहत मिलेगी। इसके बाद फिर से मानसून सक्रिय हो सकता है और बारिश का क्रम जारी होगा। हालांकि विभाग ने 31 अगस्त तक राज्य के एक दो स्थानों पर बारिश का क्रम जारी रहने की संभावना जताई है। रविवार को प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में बारिश न होने से लोगों ने राहत की सांस ली है। बीते 24 घंटों के दौरान प्रदेश के अधिकतम व न्यूनतम तापमान में कोई उल्लेखनीय परिवर्तन नहीं आया है। रविवार को ऊना में 35.0 डिग्री सेल्सियस व मनाली में 11.8 डिग्री सेल्सियस तापमान रहा।

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here