Home समाचार आंधी-तूफान का देशभर में कैसा रहा मंजर, आज भी जारी रह सकता...

आंधी-तूफान का देशभर में कैसा रहा मंजर, आज भी जारी रह सकता है कहर

168
0
SHARE
people-died-in-the-thunderstorm-on-sunday-storm-continues-today

राजधानी दिल्ली समेत देश के कई हिस्सों में रविवार शाम चली तेज़ हवाओं और बिजली गिरने के कारण कम से कम 77 लोगों की मौत की पुष्टि की गई है.

उत्तर से लेकर दक्षिण भारत तक रविवार को आई तेज आंधी, बारिश और बिजली गिरने से 77 लोगों की मौत हो गई है। बता दें कि दिल्ली-एनसीआर में 109 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से धूल भरी आंधी चली थी। हल्की बारिश भी हुई। इसके चलते राजधानी दिन में ही अंधेरे में डूब गई। इसमें बड़ी संख्या में उड़ानें प्रभावित हुईं। रेल, मेट्रो और सड़क यातायात पर भी असर पड़ा। यही नहीं मौसम विभाग के मुताबिक आंधी और तूफान का कहर सोमवार को भी उत्तरी क्षेत्रों में जारी रहेगा। विभाग के अनुसार इन क्षेत्रों में 70 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी।


पश्चिमी विक्षोभ की वजह से उत्तर और उत्तर पश्चिम भारत के पहाड़ी इलाकों जम्मू और कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड सहित पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के मैदानी इलाकों में मौसम परिवर्तित हो गया है। जिससे् मंगलवार को भी मौसम में अनिश्चितता जारी रहेगी।
सोमवार और मंगलवार को उत्तरी भारत के पहाड़ी राज्यों में ओलावृष्टि हो सकती है और राजस्थान में धूल भरी आंधी आने की आंशका है। राजस्थान और उत्तर प्रदेश के नागरिकों को तूफान से बुधवार को राहत मिल सकती है लेकिन पूरे हफ्ते कमजोर तूफान और बारिश के साथ ही हल्की हवाओं का सामना करना पड़ेगा। दक्षिण में तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक के आंतरिक क्षेत्र, तमिलनाडु और पुडुच्चेरी में सोमवार को तूफान आने की आशंका है। मंगलवार को तूफान गतिविधि ओडिशा और कर्नाटक के आंतरिक क्षेत्र तक ही सीमित रहेंगी। रविवार को देशभर में तेज आंधी के साथ ही तेज बारिश, बिजली गिरना और धूलभरी आंधी चली थी।

दिल्ली में शाम साढ़े 4 बजे आई आंधी में 250 से ज्यादा जगह पेड़ और 75 बिजली के खंभे गिर गए, जबकि 60 जगह दीवारें-छत गिरने की घटनाएं हुईं। राजधानी में अलग-अलग घटनाओं में दो लोगों की मौत हो गई, जबकि 20 घायल हो गए। वहीं, यूपी में 26 लोगों के मारे जाने और 28 के घायल होने की सूचना है। हरियाणा के झज्जर में एक व्यक्ति की मौत हो गई।

तटीय आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में तेज बारिश के बीच बिजली गिरने से 9 लोगों की मौत हो गई, जबकि तीन घायल हुए। वहीं, पश्चिम बंगाल में बिजली गिरने से 13 लोगों की मौत हो गई, जबकि 15 घायल हुए। मरने वालों में 4 बच्चे बाग में आम इकट्ठे करने के दौरान बिजली की चपेट में आ गए। कई जगहों पर आकाशीय बिजली गिरने से मकान आग की चपेट में आ गए। उत्तर प्रदेश के संभल में स्थित राजपुरा में आकाशीय बिजली ने कई घरों को अपनी चपेट ले लिया। जिसमें 100 से ज्यादा घर जलकर खाक हो गए।

रविवार को दिल्ली का अधिकतम तापमान 40.8 डिग्री सेल्सियस, जबकि न्यूनतम 30.6 डिग्री रहा। मौसम विभाग की मानें तो तापमान बढ़ने के साथ पूर्वी हवाओं ने दिल्ली का रुख कर लिया था। पश्चिमी विक्षोभ ने भी असर डाला। इसका मिलाजुला असर तूफान के रूप में सामने आया। इसके लिए मौसम विभाग ने पहले ही अलर्ट जारी कर दिया था।

मौसम विभाग के मुताबिक, दिल्ली में हवा की रफ्तार 70-109 किमी प्रति घंटे रही। दिल्ली-एनसीआर में इसका असर करीब दो घंटे तक रहा। विभाग का मानना है कि सोमवार को हिमालयन रेंज में 50-70 किमी की रफ्तार से हवाएं चलेंगी। इससे दिल्ली-एनसीआर में दोपहर बाद हल्की बारिश के साथ तेज हवाएं चलने की उम्मीद है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here