रोहिंग्या संकट: नाव पलटने से कम से कम 60 रोहिंग्या लोगों की मौत

93
0
SHARE

संयुक्त राष्ट्र का मानना है कि बांग्लादेश के तट के पास नाव पलटने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 60 से ज़्यादा हो गई है.

गुरुवार को ये नाव कॉक्स बाज़ार के पास समुद्र में पलट गई थी.

संयुक्त राष्ट्र प्रवक्ता ने कहा कि 23 लोगों की मौत की पुष्टि हो गई है जबकि 40 लोग लापता हैं, माना जा रहा है कि ये लोग डूब गए हैं.

नाव हादसे में बचे लोगों ने बताया है कि बांग्लादेश के तटीय शहर कॉक्स बाज़ार के पास समुद्र में डूबी किसी चीज़ से टकराकर नाव पलट गई.

पिछले एक महीने से म्यांमार के रखाइन प्रांत में सैन्य कार्रवाई से बचने के लिए बड़ी संख्या में नाव के ज़रिये रोहिंग्या लोग बांग्लादेश आए हैं.

रोहिंग्या संकट नाव पलटने से कम से कम 60 रोहिंग्या लोगों की मौत

रखाइन प्रांत में 25 अगस्त को हिंसा भड़क उठी थी जब रोहिंग्या चरमपंथियों ने सुरक्षा बलों के ठिकानों पर हमला बोल दिया था.

तब से पांच लाख से ज़्यादा रोहिंग्या लोग म्यांमार छोड़कर भाग चुके हैं.

विस्थापित हुए रोहिंग्या लोगों ने आरोप लगाया है कि बौद्धों के समर्थन के साथ म्यांमार सेना हिंसक अभियान के तहत रोहिंग्या मुसलमानों की हत्या करवा रही है और उन्हें भगाने के लिए गांव जलाए जा रहे हैं.

जबकि म्यांमार की सेना इस आरोप को ख़ारिज करती है और कहती है कि सिर्फ़ रोहिंग्या चरमपंथियों को निशाना बनाया जा रहा है.

रखाइन प्रांत से भाग रहे रोहिंग्या लोग नाफ़ नदी पार कर बांग्लादेश पहुंच रहे हैं, नाफ़ नदी म्यांमार और बांग्लादेश के बीच सीमा का काम करती है.

अंतरराष्ट्रीय प्रवसन संस्था के प्रवक्ता जोएल मिलमैन ने नाव हादसे में बचाए गए लोगों के हवाले से कहा है कि जो नाव पलट गई उसमें 80 लोग सवार थे.

उन्होंने कहा, ” हादसे में बचे लोगों ने बताया है कि उन्होंने नाव पर पूरी रात बिना खाने के गुज़ारी थी.”

नाव हादसे में मारे गए लोगों में कई बच्चे भी हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here